boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ

बॉटल खुलने के बाद चार घंटों के अंदर लगानी होगी वैक्सीन, अन्यथा हो जायेगी बेकार

बॉटल खुलने के बाद चार घंटों के अंदर लगानी होगी वैक्सीन, अन्यथा हो जायेगी बेकार

कोरोना वायरस के वैक्सीन 16 जनवरी (Corona Vaccination Date) से लगने शुरू हो जाएंगे. इस वैक्सीन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम राज्यों से बात करने वाले हैं. इस बीच वैक्सीन को लेकर कई सवाल हैं जो लोग जानना चाहते हैं. तो आइए हम आपको इस वैक्सीन की कुछ खास बात बताते हैं. यह वैक्सीन शीशियों में आएंगी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Health Ministry) ने जानकारी दी कि कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की शीशी खुलने के 4 घंटे तक ही इसे इस्तेमाल किया जा सकता है. यदि ऐसा नहीं हुआ तो वैक्सीन एक्पायर हो जाएगी. हर एक शीशी में वैक्सीन की 10 डोज मौजूद होंगी.

यूनिवर्सल इम्यूनाइजेशन प्रोग्राम (UIP) की मानें तो, जब वैक्सीन- शीशी के पहली बार खोली जाएगी तो इसके लगभग चार सप्ताह तक ही इस्तेमाल की जा सकती है. हालांकि यह वीवीएम (vaccine vial monitors, VVM) के बिना नहीं किया जा सकता है, क्योंकि वीवीएम प्रमुख संकेतक प्रदर्शित करते हैं. खासकर स्टोरेज के दौरान का तापमान, जो शीशियों को सही ढंग से स्टॉक करने और ट्रांसपोर्टिंग में सहायता करता है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बाबत राज्यों के साथ दिशानिर्देश साझा किया है जिसमें कहा गया है कि कोरोना वैक्सीन की शीशी पर न तो वीवीएम होगा और न ही कोई एक्सपायरी डेट अंकित नजर आएगी. वैक्सीन के लिए कोल्ड स्टोरेज स्थानों का खास ख्‍याल रखा जाएगा. वैक्सीनेशन ऑफिसर को शीशी खोलने की तारीख और समय पर खास फोकस करना होगा. ऐसा इसलिए क्योंकि सभी वैक्सीन की शीशी खुलने के चार घंटे बाद ही एक्पायर हो जाएगी.

पहले इन्हें दिया जायेगा वैक्सीन : केंद्र सरकार ने कहा है कि घनी आबादी वाले देश भारत में सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स जैसे पुलिसकर्मी, सफाई कर्मी व अन्य वर्ग के लोगों को वैक्सीन देने का काम किया जाएगा. इन सबके अलावा 50 साल से अधिक उम्र के लोगों व गंभीर रोगों से ग्रसित मरीजों को भी पहले फेज में वैक्सीन देने का काम केंद्र सरकार कर सकती है.

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu