boltBREAKING NEWS
  •  
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

20 फीट लंबी सुरंग खोद चोरों ने लगायी डॉक्‍टर के तहखाने में सेंध, करोड़ों की चांदी पर किया हाथ साफ

20 फीट लंबी सुरंग खोद चोरों ने लगायी डॉक्‍टर के तहखाने में सेंध, करोड़ों की चांदी पर किया हाथ साफ

जयपुर, एजेंसी। पिंकसिटी के नाम से मशहूर जयपुर के वैशाली नगर से करोड़ों रुपये की चांदी की चोरी का मामला सामने आया है। शहर के नामी हेयर ट्रांसप्लांट सर्जन के घर से बीते बुधवार को चोरों ने करोड़ों रुपये की चांदी पर हाथ साफ कर दिया। आपको जानकर हैरानी होगी की इसके लिए चोरों ने डॉक्‍टर के घर के ठीक पीछे  करीब 20 फीट लंबी सुरंग खोदी। इसके बाद घर के बेसमेंट में रखे लोहे की तीन बक्‍सों से चांदी की सिल्लियां और जेवर निकाल लिये। जानकारों का कहना है कि चोरी का ये आइडिया हॉलीवुड मूवी से चुराया गया होगा।

 मिली जानकारी के अनुसार आम्रपाली सर्किल के डी-ब्लॉक में रहने वाले डॉक्‍टर ने शुक्रवार को चोरी की शिकायत दर्ज करवायी। डॉक्‍टर ने पुलिस को बताया कि अभी दो दिन पहले ही वह बेसमेंट में गए थे। वहां बक्‍सों से चांदी के गहने गायब थे लोहे के सारे बक्‍सों को काटकर सारा कीमती सामान निकाला गया था। बक्‍से के नीचे 2 फुट गहरा सुराख दिखा। जांच में पता चला कि लगभग 20 फुट लंबी सुरंग खोदकर इस चोरी की घटना को अंजाम दिया गया है। डॉक्‍टर ने दर्ज करवायी गई एफआइआर में चांदी का वजन और कीमत की जानकारी नहीं दी है। पुलिस का अनुमान है कि लोहे के बक्‍सों को देखकर लगता है कि इसमें कई क्विंटल चांदी होगी जिसकी कीमत करोड़ों में हो सकती है। इन बक्‍सों को जमीन में गाड़कर रखा गया था और उसके ऊपर से टाइल्स लगाकार पक्‍का फर्श भी बनाया गया था। 

 पड़ोस के मकान से सुरंग खोदी गई

जांच में पता चला है कि डॉक्‍टर के मकान के ठीक पीछे मकान नंबर डी-135 है। इसी मकान से सुरंग बनाकर  डॉक्‍टर के बेसमेंट में सेंध लगायी गई थी। यह मकान बीती 4 जनवरी को 90 लाख रुपये में  बनवारी लाल जांगिड़ के नाम से खरीदा गया था। इसी मकान के एक कमरे का फर्श उखाड़कर चार फीट गहरी और 20 फुट लंबी सुरंग खोदी गई थी। चोर डॉक्‍टर के बेसमेंट में लगे लोहे के बक्‍से से चांदी की सिल्लियां  चुराने में कामयाब हो गए और उसके बाद मिट्‌टी डलवाकर सुरंग को बंद कर उस पर दोबारा से फर्श भी बनवा दिया गया।