boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

शरीर में ये बदलाव प्रोटीन की कमी के हैं लक्षण, इस तरह करें दूर

शरीर में ये बदलाव प्रोटीन की कमी के हैं लक्षण, इस तरह करें दूर

लाइफस्टाइल डेस्क। आधुनिक समय में सेहतमंद रहना बड़ी चुनौती है। इसके लिए डाइट में आवश्यक पोषक तत्वों का शामिल करना बेहद जरूरी है। इनमें एक आवश्यक तत्व प्रोटीन है। प्रोटीन मसल्स रिपेयर करने, भूख मिटाने, ब्लड शुगर स्थिर करने, नाखूनों और बालों के विकास में अहम भूमिका निभाता है। प्रोटीन में असंतुलन से शरीर पर बुरा असर पड़ता है। इसकी कमी से कई बीमारियों जन्म लेती हैं। विशेषज्ञों की मानें तो पुरुषों को प्रतिदिन 2 से 3 हजार कैलोरी रोजना सेवन करना चाहिए। वहीं, महिलाओं को प्रतिदिन 1600 से 2400 कैलोरी सेवन करना चाहिए। इसमें 20 से 30 फीसदी प्रोटीन होना चाहिए। निर्धारित मात्रा से कम प्रोटीन लेने से शरीर में कई बदलाव होते हैं। अगर आपको पता नहीं हैं, तो आइए जानते हैं-

त्वचा सूखने लगती है

जब शरीर में पोषक तत्वों की कमी होती है, तो शरीर पर प्रतिकूल असर पड़ता है। वहीं, प्रोटीन की कमी से त्वचा सूख जाती है। प्रोटीन शरीर निर्माण में अहम भूमिका निभाता है। इसकी कमी से त्वचा रूखी हो जाती है। बाल भी ड्राई होने लगते हैं।

भूख बढ़ने लगती है

जब शरीर में प्रोटीन की कमी होती है, तो भूख बढ़ जाती है। अगर आप कम प्रोटीन लेते हैं, तो खाने खाने के आधे घंटे बाद भूख लगने लगती है। प्रोटीन की कमी को दूर करने के लिए रोजाना संतुलित आहार लें। इसमें पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, फैट और कार्ब्स को जरूर शामिल करें। विशेषज्ञों की मानें तो खाने में 40 प्रतिशत प्रोटीन, 30 प्रतिशत फैट और 30 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट होना चाहिए।

थकान महसूस होना

प्रोटीन की कमी से ब्रेन फ्रॉग और कुछ न करने की समस्या होती है। ब्रेन फ्रॉग एक ऐसी बीमारी है, जिसमें व्यक्ति को सोचने की शक्ति कमजोर हो जाती है। आसान शब्दों में कहें तो व्यक्ति मानसिक रूप से कमजार होने लगता है। संतुलित मात्रा में प्रोटीन लेने से व्यक्ति हमेशा एनर्जेटिक रहता है। थकान से बचाव के लिए अपनी डाइट में बीन्स, क्विनोआ आदि चीजों को जरूर शामिल करें। अगर आप नॉन वेज लेते हैं, तो अपनी डाइट में चिकन लिवर और रेड मीट को जोड़ सकते हैं। इससे न केवल प्रोटीन की बल्कि आयरन की कमी भी दूर हो जाती है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

 

 

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu