boltBREAKING NEWS
  •  
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

गर्मियों में मिष्ठान

गर्मियों में मिष्ठान

आजकल  तापमान लगातार बढ़ रहा है और मौसम  बिभाग की माने  तो अगले हफ्ते  तापमान 30 डिग्री  पार  करते ही   गर्मियों का सीजन  औपचारिक  तौर से शुरू हो जायेगा   /      

 गर्मियाँ शुरु होते ही भोजन के बाद मिष्ठान का अपना अलग ही ज़ायका होता है। गर्मियों में भोजन के बाद ठण्डी आईसक्रीम, कुल्फी ठण्डी खीर, रसमलाई का अपना अलग ही आनंद होता है। लेकिन यह ध्यान रखना चाहिए कि गर्मियों में हमेशा हल्का तथा स्वास्थ्यवर्धक मिष्ठान ही ग्रहण करना चाहिए। इस मौसम में मौसमी फलों के नियमित सेवन से शरीर की नमी बनाए रखना सबसे ज्यादा जरूरी होता है क्योंकि तापमान बढ़ने से शरीर में पानी की कमी तेज़ी से बढ़ती है जिससे डी-हाईड्रेशन का खतरा बना रहता है। इसलिए यह जरूरी होता है कि गर्मियों के मौसमी फलों पर आधारित स्वादिष्ट मिष्ठान घर पर बनाए जाएं अगर मिष्ठान के शौकीन हैं तो फलों पर आधारित क्रीम कुल्फी, आईसक्रीम सहित अनेक मिष्ठान हैं जिनका आप गर्मियों में आनंद उठा सकते हैं।
गर्मियों में आप निम्नलिखित मिष्ठान बना सकते हैं-

मैंगो आईसक्रीम
गर्मियों में आम का आनंद उठाना अलग ही बात है । आम को आप विभिन्न रूप में प्रयोग कर सकते हैं जिसमें मैंगो आईसक्रीम भी काफी लोकप्रिय मानी जाती है। इसके लिए आप 400 ग्राम मिल्कमेड, 3 पके आम तथा 300 मिलीलीटर ताज़ा क्रीम ले लीजिए।
एक कांच के बर्तन में मिल्कमेड ताज़ा क्रीम तथा आम का रस डालकर तब तक फेंटते रहिए जब तक यह मिश्रण गाढ़ा ना हो जाए। इस गाढ़े मिश्रण को फ्रीज़र में लगा दीजिये  और जब यह मिश्रण आधा  फ्रीज हो जाए   तो इसे आप बाहर निकालकर फिर अच्छी तरह फेंटिएं तांकि आईसक्रीम मुलायम हो सके। अब इसे वापिस फ्रीज़र में रखिए तथा पूरी तरह फ्रीज होने दीजिए। पूरी तरह फ्रीज़ होने के बाद अब आप इसे उपयोग कर सकते हैं।

मैंगो कुल्फी
मैंगो कुल्फी भी गर्मियों में काफी पसंदीदा मिष्ठान माना जाता है। गर्मियों में खाने के साथ मैंगो  कुल्फी का मेल ब्रेड और बटर की तरह माना जाता है।
इसके लिए 200 ग्राम मिल्कमेड, एक लीटर पौष्टिक दूध, एक चम्मच मक्की का आटा तथा 500 ग्राम आम का गुद्दा ले लीजिए।
एक बर्तन में मिल्कमेड तथा दूध को मिलाकर हल्की आंच पर पकने दें तथा समय-समय पर हिलाते रहें आप इस प्रक्रिया को 15-20 मिनट तक चलने दें।
अब मक्की के आटे को 2 चम्मच दूध में मिलाकर उपरोक्त मिश्रण में मिला दें इस मिश्रण को लगभग पांच मिनट तक हल्की आंच पर पकने दें जब तक कि पेस्ट गाढ़ा ना हो जाए। इसके बाद मिश्रण को आंच से हटा लें तथा ठण्डा होने दें। जब यह मिश्रण ठण्डा हो जाए तो इसमें आम का गूद्दा मिला लें तथा इस मिश्रण को कुल्फी के सांचे में डालकर 3-4 घण्टे तक फ्रीज़ होने दें। सांचे को हटाकर कुल्फी को काट कर उपयोग कर सकते हैं।
गर्मियों के मौसम में ठण्डाई का अलग ही अंदाज़ माना जाता है। आप ठण्डाई का सेवन करके भारतीय परम्पराओं का वहन करते हुए कैमिकल युक्त ड्रिंक्स से भी मुक्ति पा सकते हैं। इसके लिए आपको 200 ग्राम मिल्क मेड, 10 बादाम, एक चम्मच इलायची, 2 चम्मच सौंफ, एक चम्मच खस का अर्क, 6 काली मिर्च के दाने तथा 1.5 लीटर ताज़े दूध की आवश्यकता है।
10 दाने बादाम को भिगोने के बाद ईलायची और सौंफ के साथ पीस कर एक समतल पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को बाकी सामग्री के साथ मिलाकर छान लें।
अब आधा गिलास मिश्रण में पीसी हुई बर्फ डालकर कुछ देर तक रहने दें तथा गुलाब की पंखुड़ियां डालकर इसका सेवन करें।
गुलाबजल नींबू शिंकजी
नींबू शिंकजी के लिए एक जग में सामान्य ताज़ा पानी लीजिए। इसमें 4 चम्मच चीनी डालकर अच्छे से मिला लीजिए इस मिश्रण में चार नींबू जूस मिलाइए तथा रूह अफज़ा मिलाकर थोड़ा सा काला नमक, काला ज़ीरा मिलाकर अच्छे तरीके से फेंटिए। अब इस मिश्रण में पीसी हुई बर्फ तथा ठण्डा पानी मिलाइए। अब आपकी गुलाब जल शिंकजी परोसने के लिए तैयार है।

  जामुन पुदीना रेसीपी
500 ग्राम जामुन, 2 चम्मच चीनी, पुदीना पत्ते तथा एक नींबू जूस को मिक्सर में मिलाकर ब्लैंड कर लें। इस मिश्रण को 3 घण्टे फ्रीज़र में रखकर फ्रीज़ होने दें। आप जब चाहें तब आप अपनी सुविधानुसार प्रयोग कर सकती है।  

  शहद पिस्ता और केसर कुल्फी
शहद पिस्ता, केसर तथा इलायची को मिलाकर आप घर में दूध का स्वादिष्ट मिष्ठान बना सकते हैं।
लीची की गुठली को अलग कर लीजिए। मिक्सी में पुदीने के पत्ते, अदरक तथा चीनी के दाने डालकर ब्लैंड कर लें। अब इसमें आधा कप तरबूज़, नींबू जूस तथा लीची मिला लीजिए। इस सबको ब्लैंड करके गाढ़ा गूद्दा बनाकर बने मिश्रण को कांच के बर्तन में डालकर फ्रीज़र में रख लें। जब यह फ्रीज़र हो जाए तो आप इसका आनंद उठा सकते हैं।

  - लेखक हरजीत सिंह बेदी दिल्ली में   खान पान  और पौषाहार बिशेष्ज्ञ हैं