boltBREAKING NEWS
  •  
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

अंगूर को सुखाकर किशमिश तैयार किया जाता है। इसमें प्राकृतिक मिठास होती है। इसे ड्राई फ्रूट्स की श्रेणी में रखा गया है। हालांकि, किशमिश में विटामिन-सी कम मात्रा में पाया जाता है। इसके बावजूद इसमें आयरन, कैल्शियम, फाइबर और एंटी ऑक्सीडेंट्स के गुण पाए जाते हैं, जो कई बीमारियों में फायदेमंद साबित होते हैं। खासकर रक्तचाप, वजन घटाने, पीलिया और एनीमिया में यह दवा की तरह काम करता है। इसके अलावा, लिवर के लिए भी किशमिश दवा समान है। कई शोध में किशमिश को लिवर के लिए प्राकृतिक दवा बताया गया है। अगर आप भी नेचुरल तरीके से लिवर को साफ़ करना चाहते हैं, तो इस तरह किशमिश का सेवन कर सकते हैं- लिवर लिवर शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है, जो शरीर को डिटॉक्स करने में अहम भूमिका निभाता है। साथ ही कार्बोहाइड्रेट्स को तोड़कर ग्लूकोज बनाता है। लिवर में आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो भोजन से पोषक तत्वों को पचाने और अवशोषित करने के लिए आवश्यक है। इसके लिए लिवर का सेहतमंद रहना अनिवार्य है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की मानें तो भारत में लिवर की बीमारी की गिनती दस बड़ी बीमारियों में की जाती है। वहीं, देश में हर साल 10 लाख लिवर से संबंधित मामले सामने आते हैं, जो कि गंभीर चिंता का विषय है। जानें, क्यों आयुर्वेद में खाना खाते समय पानी पीने की दी जाती है सलाह जानें, क्यों आयुर्वेद में खाना खाते समय पानी पीने की दी जाती है सलाह यह भी पढ़ें कैसे करें सेवन इसके लिए रोजाना रात में सोने से पहले एक गिलास पानी में 10-12 किशमिश डाल दें। अगली सुबह में खाली पेट किशमिश का पानी पी जाएं और किशमिश को चबाकर खा लें। रोजाना इसके सेवन से लिवर नेचुरल तरीके से साफ़ हो जाता है। साथ ही शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा फैट भी बर्न होने लगता है। साथ ही खून की कमी भी दूर होती है। इसमें आयरन, बी-कॉम्प्लेक्स और विटामिन पाए जाते हैं, जो एनीमिया में फायदेमंद होते हैं और कॉपर रेड ब्लड सेल्स को बढ़ाता है।

अंगूर को सुखाकर किशमिश तैयार किया जाता है। इसमें प्राकृतिक मिठास होती है। इसे ड्राई फ्रूट्स की श्रेणी में रखा गया है। हालांकि, किशमिश में विटामिन-सी कम मात्रा में पाया जाता है। इसके बावजूद इसमें आयरन, कैल्शियम, फाइबर और एंटी ऑक्सीडेंट्स के गुण पाए जाते हैं, जो कई बीमारियों में फायदेमंद साबित होते हैं। खासकर रक्तचाप, वजन घटाने, पीलिया और एनीमिया में यह दवा की तरह काम करता है। इसके अलावा, लिवर के लिए भी किशमिश दवा समान है। कई शोध में किशमिश को लिवर के लिए प्राकृतिक दवा बताया गया है। अगर आप भी नेचुरल तरीके से लिवर को साफ़ करना चाहते हैं, तो इस तरह किशमिश का सेवन कर सकते हैं-  लिवर  लिवर शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है, जो शरीर को डिटॉक्स करने में अहम भूमिका निभाता है। साथ ही कार्बोहाइड्रेट्स को तोड़कर ग्लूकोज बनाता है। लिवर में आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो भोजन से पोषक तत्वों को पचाने और अवशोषित करने के लिए आवश्यक है। इसके लिए लिवर का सेहतमंद रहना अनिवार्य है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की मानें तो भारत में लिवर की बीमारी की गिनती दस बड़ी बीमारियों में की जाती है। वहीं, देश में हर साल 10 लाख लिवर से संबंधित मामले सामने आते हैं, जो कि गंभीर चिंता का विषय है।  जानें, क्यों आयुर्वेद में खाना खाते समय पानी पीने की दी जाती है सलाह जानें, क्यों आयुर्वेद में खाना खाते समय पानी पीने की दी जाती है सलाह यह भी पढ़ें  कैसे करें सेवन  इसके लिए रोजाना रात में सोने से पहले एक गिलास पानी में 10-12 किशमिश डाल दें। अगली सुबह में खाली पेट किशमिश का पानी पी जाएं और किशमिश को चबाकर खा लें। रोजाना इसके सेवन से लिवर नेचुरल तरीके से साफ़ हो जाता है। साथ ही शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा फैट भी बर्न होने लगता है। साथ ही खून की कमी भी दूर होती है। इसमें आयरन, बी-कॉम्प्लेक्स और विटामिन पाए जाते हैं, जो एनीमिया में फायदेमंद होते हैं और कॉपर रेड ब्लड सेल्स को बढ़ाता है।

अंगूर को सुखाकर किशमिश तैयार किया जाता है। इसमें प्राकृतिक मिठास होती है। इसे ड्राई फ्रूट्स की श्रेणी में रखा गया है। हालांकि, किशमिश में विटामिन-सी कम मात्रा में पाया जाता है। इसके बावजूद इसमें आयरन, कैल्शियम, फाइबर और एंटी ऑक्सीडेंट्स के गुण पाए जाते हैं, जो कई बीमारियों में फायदेमंद साबित होते हैं। खासकर रक्तचाप, वजन घटाने, पीलिया और एनीमिया में यह दवा की तरह काम करता है। इसके अलावा, लिवर के लिए भी किशमिश दवा समान है। कई शोध में किशमिश को लिवर के लिए प्राकृतिक दवा बताया गया है। अगर आप भी नेचुरल तरीके से लिवर को साफ़ करना चाहते हैं, तो इस तरह किशमिश का सेवन कर सकते हैं-

लिवर

लिवर शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है, जो शरीर को डिटॉक्स करने में अहम भूमिका निभाता है। साथ ही कार्बोहाइड्रेट्स को तोड़कर ग्लूकोज बनाता है। लिवर में आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो भोजन से पोषक तत्वों को पचाने और अवशोषित करने के लिए आवश्यक है। इसके लिए लिवर का सेहतमंद रहना अनिवार्य है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की मानें तो भारत में लिवर की बीमारी की गिनती दस बड़ी बीमारियों में की जाती है। वहीं, देश में हर साल 10 लाख लिवर से संबंधित मामले सामने आते हैं, जो कि गंभीर चिंता का विषय

कैसे करें सेवन

इसके लिए रोजाना रात में सोने से पहले एक गिलास पानी में 10-12 किशमिश डाल दें। अगली सुबह में खाली पेट किशमिश का पानी पी जाएं और किशमिश को चबाकर खा लें। रोजाना इसके सेवन से लिवर नेचुरल तरीके से साफ़ हो जाता है। साथ ही शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा फैट भी बर्न होने लगता है। साथ ही खून की कमी भी दूर होती है। इसमें आयरन, बी-कॉम्प्लेक्स और विटामिन पाए जाते हैं, जो एनीमिया में फायदेमंद होते हैं और कॉपर रेड ब्लड सेल्स को बढ़ाता है।