boltBREAKING NEWS
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ

गोवा में 16 से 24 जनवरी तक चलेगा अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फेस्टिवल, 15 फ़िल्मों के बीच होगा मुक़ाबला

गोवा में 16 से 24 जनवरी तक चलेगा अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फेस्टिवल, 15 फ़िल्मों के बीच होगा मुक़ाबला

नई दिल्ली। गोवा सरकार द्वारा आयोजित भारत के 51वें अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म फेस्टिवल (IFFI 2021) का एलान कर दिया गया है। 9 दिवसीय फ़िल्म फ़ेस्टिवल 16 जनवरी से 24 जनवरी तक आयोजित किया जाएगा। फ़िल्म फेस्टिवल पिछले साल नवम्बर में होने वाला था, मगर कोरोना वायरस पैनडेमिक को देखते हुए इसे जनवरी तक पोस्टपोन कर दिया गया था। 

इंटरनेशनल कॉम्पटिशन सेक्शन

फ़ेस्टिवल में प्रतिष्ठित गोल्डन पीकॉक अवॉर्ड के लिए विभिन्न देशों की 15 फ़िल्मों के बीच मुक़ाबला होगा। अंतरराष्ट्रीय फ़िल्मों के कॉम्पटिशन सेक्शन के लिए गठित ज्यूरी की अध्यक्षता अर्जेंटीना के फ़िल्ममेकर पैब्लो सीज़र करेंगे, जबकि सदस्यों में श्रीलंकाई फ़िल्ममेकर प्रसन्ना वीठानागी, ऑस्ट्रिया के अबु बकर शॉकी, भारत के प्रियदर्शन और बांग्लादेश की रुबाइयत हुसैन शामिल हैं।

इंटरनेशनल कॉम्पटिशन सेक्शन में जिन 15 फ़िल्मों के बीच मुक़ाबला होगा, उनमें पुर्तगाल, डेनमार्क, बुल्गारिया, ईरान, पोलैंड, स्पेन, अफ़गानिस्तान, ताइवान समेत भारत की तीन फ़िल्में कृपाल कलीता की ब्रिज, सिद्धार्थ त्रिपाठी की द डॉग एंड हिज़ मैन और गणेश विनायकन की Thaen शामिल हैं। बेस्ट फ़िल्म को 40 लाख रुपये का नगद इनाम दिया जाएगा, निर्माता और निर्देशक में समान रूप से बांट दिया जाता है। निर्देशक को गोल्डन पीकॉक और सर्टिफिकेट भी दिया जाता है, वहीं निर्माता को कैश प्राइज़ के साथ सिर्फ़ सर्टिफिकेट मिलता है।

इसके अलावा बेस्ट निर्देशक केटेगरी में 15 लाख रुपये नगद, सिल्वर पीकॉक और सर्टिफिकेट दिया जाता है। बेस्ट एक्टर मेल और फीमेल को 10 लाख रुपये नगद, सिल्वर पीकॉक और सर्टिफिकेट मिलता है। स्पेशल ज्यूरी अवॉर्ड भी दिया जाता है, जिसके तहत 15 लाख रुपये नगद और प्रमाण-पत्र दिया जाता है। यह अवॉर्ड किसी फ़िल्म या व्यक्ति को दिया जा सकता है।

इंडियन पैनोरमा सेक्शन

फेस्टिवल के इंडियन पैनोरमा सेक्शन में कुल 23 फीचर और 20 नॉन फीचर फ़िल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा। इनमें दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत की छिछोरे भी शामिल है। तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर अभिनीत तुषार हीरानंदानी की सांड की आंख से इस सेक्शन की ओपनिंग होगी।  इस बार 9 दक्षिण भारतीय और 6 मराठी फ़िल्में दिखायी जाएंगी। दक्षिण भारतीय फ़िल्मों में 6 फीचर, 2 मुख्य धारा की और 1 नॉन फीचर फ़िल्म होगी। वहीं, मराठी फ़िल्मों में 3-3 फीचर और नॉन फीचर फ़िल्में होंगी।

इन फ़िल्मों का होगा प्रीमियर

दानिश फ़िल्ममेकर थॉमस विंटरवर्ग की फ़िल्म एनॉदर राउंड के प्रीमियर से फ़ेस्टिवल का पर्दा उठेगा, जबकि कियोशी कुरुसावा की हिस्टोरिकल ड्रामा फ़िल्म वाइफ़ ऑफ़ ए स्पाई से समारोह का पर्दा गिरेगा। ऑस्ट्रिया के फ़िल्ममेकर संदीप कुमार निर्देशित मेहरुनिसा का फेस्टिवल में वर्ल्ड प्रीमियर किया जाएगा। वेटरन एक्ट्रेस फ़ारुख़ ज़फ़र लीड रोल में हैं। 

इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल ऑफ़ इंडिया की शुरुआत 1952 में हुई थी। इस बार कंट्रो ऑफ़ फोकस बांग्लादेश रहेगा और कई अहम फ़िल्में दिखायी जाएंगी। यह एशिया के सबसे प्रतिष्ठित फ़िल्म समारोहों में शामिल है। भारत सरकार का सूचना प्रसारण मंत्रालय, डायरेक्टरेट ऑफ़ फ़िल्म फ़ेस्टिवल्स और गोवा मनोरंजन समिति के साथ मिलकर गोवा सरकार हर साल इसका आयोजन करती है।IFFI के आयोजन पर कई बॉलीवुड सेलेब्रिटीज़ ने ट्वीट करके शुभकामनाएं दीं। 

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu