boltBREAKING NEWS
  •  
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

कांग्रेस विधायक के पोते को घर के बाहर गोलियों से भूना

कांग्रेस विधायक के पोते को घर के बाहर गोलियों से भूना

 बिहार के रोहतास में शनिवार को बड़ी वारदात हुई। परसथुआ थाना क्षेत्र के परसथुआ बाजार में शनिवार की शाम सामाजिक कार्यकर्ता व करगहर के कांग्रेस विधायक संतोष मिश्र के पोते संजीव मिश्र (40) की दो बाइक पर सवार चार अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। संजीव अपने घर से नीचे उतर रहे थे कि अपराधियों ने शाम साढ़े पांच बजे के करीब उन्हें गोलियों से भून दिया। वारदात को अंजाम देकर अपराधी हथियार लहराते हुए भाग निकले। गोली की आवाज सुन परिजन जब घर से बाहर निकले तो उन्हें खून से लथपथ देख तत्काल कैमूर जिला के मोहनिया स्थित एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए ले गए, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। संजीव के शरीर में सात गोली लगने की बात बताई जा रही है। विधायक संतोष मिश्र ने कहा कि दो दशक में उनके परिवार में गोली मारकर हत्या करने की यह तीसरी घटना है। छह वर्ष पूर्व संजीव के दादा कामता मिश्र की व डेढ़ दशक पूर्व पिता महेंद्र मिश्र उर्फ गुमटी मिश्र की भी गोली मार अपराधियों ने हत्या की थी। सासाराम के एसडीपीओ विनोद कुमार रावत ने बताया कि वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी है। बाजार में लगे सीसीटीवी फुटेज से अपराधियों की शिनाख्त करने का प्रयास किया जा रहा है। प्रथमदृष्टया घटना पुरानी रंजिश के कारण घटित होने का अनुमान लगाया जा रहा है। पुलिस स्वजनों से भी इस बारे में जानकारी इकट्ठा कर अपराधियों के संभावित ठिकानों पर छापेमारी करने में जुट गई है। स्वजन द्वारा कुछ लोगों पर आशंका जाहिर की गई है। उसपर जांच कर कार्रवाई की जा रही है। वहीं मृतक के छोटे भाई व पंडित गिरिश नारायण मिश्र महाविद्यालय के सचिव मंजीव मिश्र ने बताया कि वारदात सुरक्षा खामियों के कारण घटित हुई है। पुलिस अगर चौकस रहती तो घटना नहीं घटती। वारदात को ले स्थानीय लोगों में पुलिस के प्रति काफी आक्रोश है। वारदात की सूचना मिलते ही विधायक संतोष मिश्र मौके पर पहुंच गए हैं। उन्होंने कहा कि इस घटना के लिए जो भी दोषी हो उसपर तत्काल कार्रवाई की जाए।