boltBREAKING NEWS
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

भावी  सभापति व पार्षदों से शहरवासियों को उम्मीद समाधान करके जीत सकेंगे दिल

भावी  सभापति व पार्षदों से शहरवासियों को उम्मीद  समाधान करके जीत सकेंगे दिल

 भीलवाड़ा हलचल। नगर परिषद के चुनाव में लड़ रहे पार्षद प्रत्याशी इस चुनावी लड़ाई में जीत के बाद  शहर की समस्याओं के समाधान में तत्परता दिखाकर लोगो का दिल जीत पाएंगे । इसी आशय की  अपील  पर्यावरणविद् बाबूलाल जाजू ने की है। जाजू ने कहा है कि  नगर परिषद क्षेत्र में शहर की जनता अनेक समस्याओं से जूझ रही है ऐसे में जाजू ने  नए बनने वाले सभापति व पार्षदों से उम्मीद जताते हुए अपील की है कि भीलवाड़ा में गांधी सागर मानसरोवर वह नेहरू जलाशयों मैं आ रहे हैं गंदे पानी को रोका जाए और स्वच्छ जल भरा रहे तथा  नोका विहार शुरू किया जाना चाहिए । जाजू ने बताया कि  शहर में चारों और लावारिस मवेशियों की परेशानी से छुटकारा दिलाते हुए मवेशियों को गौशाला में रखा  जाना चाहिए। नगर परिषद क्षेत्र में अतिक्रमण का  खेल  हमेशा ही चलता रहा है जिस पर लगाम लगाकर  आवागमन को सुचारू किये जाने की सख्त जरूरत है। जाजू ने बताया कि  भीलवाड़ा मैं दुपहिया व चार पहिया वाहनों का अत्यधिक आवागमन है ओर पार्किंग  बहुत बड़ी समस्या के रूप में है  इसका भी निस्तारण करने में गंभीरता दिखानी पड़ेगी।  परिषद क्षेत्र की नालियां - नालें कचरे से अटे पड़े हैं समय पर सफाई नहीं होती है  इससे शहर की सुंदरता तो दागदार होती है और स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक है।समूचे भीलवाड़ा में सड़को पर असंख्य गड्ढों से शहरवासी अत्यधिक परेशान हैं आए दिन दुर्घटनाएं घट रही । परिषद क्षेत्र के उद्यानों में रखरखाव व्यवस्था लचर होने से उद्यान अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहे हैं।  जाजू ने नए बनने वाले सभापति में पार्षदों से उम्मीद जताते हुए कहा है कि उक्त बड़ी समस्याओं पर गंभीर होने के साथ-साथ उक्त समस्याओं को समाप्त करने की आम जनों में काफी लालसा है जाजू ने बताया कि पूर्व में भीलवाड़ा नगर परिषद क्षेत्र की आम जनता पुराने जनप्रतिनिधियों के  कार्यकाल से अपने आप को ठगा महसूस करती है क्यो कि जीत के बाद जनता और उनकी समस्याओं को नजरअंदाज किया जाता है लेकिन इस बार जनसेवक पार्षद भी पचास की जगह सत्तर होंगे तो उम्मीद की जानी चाहिए कि सब मिलकर शहर की समस्याओं का सफाया कर सर्वांगीण विकास का यादगार काम करेंगे ताकि इनके कार्यकाल को स्वर्णिम मानते हुए दूसरे जनप्रतिनिधियों को भी सीखने को मिलेगा।

ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम

cu