boltBREAKING NEWS
  •  
  • रहें हर खबर से अपडेट भीलवाड़ा हलचल के साथ
  • भीलवाड़ा हलचल पर समाचार या जानकारी भेजे [email protected]
  • सबसे ज्यादा पाठकों तक पहुँच और सबसे सस्ता विज्ञापन सम्पर्क करें  6377 364 129
  •  

तेजी से वजन घटाने के लिए रोजाना पिएं यह खास ड्रिंक

 तेजी से वजन घटाने के लिए रोजाना पिएं यह खास ड्रिंक

लाइफस्टाइल डेस्क। बसंती बयार के बीच गर्मी दस्तक देने लगी है। इस मौसम में सूर्य का पारा चढ़ जाता है। इसके चलते लोगों को सेहत का विशेष ख्याल रखना पड़ता है। गर्मी के दिनों में सेहतमंद रहने के लिए अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए। विशेषज्ञों की मानें तो गर्मी के दिनों में शरीर को हाइड्रेट रखना बहुत जरूरी है। शरीर में पानी की कमी के चलते कई प्रकार की बीमारियां पैदा होती हैं। इस मौसम में सेहतमंद रहना किसी चुनौती से कम नहीं होता है। अगर आप भी गर्मी के दिनों में सेहतमंद रहना चाहते हैं, तो रोजाना जलजीरा का सेवन जरूर करें। जलजीरा कई मसालों से मिलाकर बनाया जाता है, जो सेहत के लिए फायदेमंद साबित होता है। इसके सेवन से बढ़ते वजन को कंट्रोल किया जा सकता है, एनीमिया का उपचार किया जा सकता है और पेट संबंधी विकारों को दूर करता है। आइए, जलजीरा के फायदे और बनाने की विधि जानते हैं-

वजन कंट्रोल करने में मददगार

सेहत के प्रति जागरूक लोगों के लिए जलजीरा सर्वोत्तम पेय पदार्थ है। जल जलजीरा में जीरा पाया जाता है, जिससे लंबे समय तक पेट भरा रहता है और भूख नहीं लगती हैं। साथ ही इसमें कैलोरीज बहुत कम होती है। रोजाना दो बार जलजीरा का सेवन करने से बढ़ते वजन को कंट्रोल किया जा सकता है।

आयरन की कमी दूर करता है

जलजीरा में आयरन होता है। डॉक्टर्स भी आयरन की कमी से पीड़ित लोगों को जलजीरा सेवन करने की सलाह देते हैं।  खासकर गर्भवती महिलाओं को जलजीरा का सेवन रोजाना करना चाहिए। जलजीरा हीमोग्लोबिन के प्रवाह को रफ्तार देता है। साथ ही रेड ब्लड सेल्स भी बनाता है।

पाचन तंत्र मजूबत होता है

अगर आप पेट संबंधी परेशानियों से जूझ रहे हैं, तो आप जलजीरा का सेवन कर सकते हैं। यह धीरे-धीरे पेट से गैस को बाहर निकाल देता है। इसके सेवन से इंस्टेंट  पेट संबंधी समस्या में आराम मिलता है। पेट में दर्द और अर्थराइटिस में भी जलजीरा गुणकारी है। जलजीरा में अदरक डालने से इसका औषधीय गुण बढ़ जाता है।

कैसे बनाएं जलजीरा

एक चौथाई कप पानी में एक चम्मच इमली को तकरीबन 15 मिनट तक भिगोकर रखें। अब तीन चम्मच पुदीने पत्ते को ब्लाइंड करें। इसमें केवल और केवल पुदीने के पत्ते डालें और टहनियां मत डालें। अब इसमें डेढ़ चम्मच सौंफ, डेढ़ चम्मच जीरा, एक इलायची और स्वाद अनुसार काली मिर्च डालकर अच्छी तरह ब्लाइंड करें। इसके बाद जलजीरा में एक चम्मच चाट मसाला, एक चम्मच आमचूर, एक चुटकी हींग और आवश्यकता अनुसार काला नमक इसमें मिलाएं। आप चाहे तो स्वाद के लिए इसमें नींबू का रस भी मिला सकते हैं। साधारण नमक के बदले में काला नमक का प्रयोग कर सकते हैं। अब एक गिलास ठंडे पानी में दो चम्मच जलजीरा चटनी और दो आइस क्यूब डालें। इसे अच्छी तरह से हिला कर जलजीरा तैयार कर लें। सर्व करने से पहले उसमें बूंदी डाल दें।

 

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।